Press "Enter" to skip to content

UP Aided School में बदलेंगे शिक्षक भर्ती से लेकर पढ़ाई तक के सारे नियम, योगी सरकार का बड़ा फैसला [Source: Patrika : India’s Leading Hindi News Portal]

लखनऊ. (UP Aided School) उत्तर प्रदेश के एडेड स्कूलों में भी अब योगी आदित्यनाथ सरकार (Yogi Adityanath Government) पढ़ाई से लेकर शिक्षकों तक की गुणवत्ता पर शिकंजा कसने जा रही है। योगी सरकार प्रदेश में पहली बार एडेड जूनियर हाईस्कूलों के शिक्षकों की भर्ती करने जा रही है। इसके अलावा यहां पर मिशन प्रेरणा के साथ मानव संपदा पोर्टल भी जरूरी कर दिया गया है। साथ ही इन स्कूलों में भी सरकारी स्कूलों वाला शैक्षणिक कैलेण्डर ही लागू किया जाएगा। आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश में लगभग आठ हजार एडेड स्कूल हैं, जिनमें जूनियर हाईस्कूल, प्राइमरी और माध्यमिक के वे स्कूल भी शामिल हैं, जहां कक्षा एक से आठ तक की पढ़ाई कराई जाती है।

लागू होंगे सरकारी स्कूलों के मॉड्यूल

मिशन प्रेरणा के तहत एडेड स्कूलो के लर्निंग गोल भी वहीं होंगे जो सरकार ने तय किए हैं। यहां भी विद्यार्थियों के सीखने के लिए वे सभी मॉड्यूल लागू किये जाएंगे जो सरकारी स्कूलों में चलाए जा रहे हैं। इसके साथ ही यहां के छात्र-छात्राओं के आधार फीडिंग का काम भी शुरू कर दिया गया है। अभी तक सरकार इन स्कूलों में शिक्षकों और शिक्षणेत्तर कर्मचारियों का वेतन देती है, साथ ही निःशुल्क यूनिफार्म, पाठ्य पुस्तकें और मिड डे मील की व्यवस्था सरकारी स्कूलों की तर्ज पर की जाती है। लेकिन योगी सरकार ने अब तय किया है कि जब ये स्कूल सरकारी सहायता से चलते हैं तो यहां भी पढ़ाई की गुणवत्ता पर सरकार पैनी नजर रखेगी। जिससे यहां पढ़ने वाले छात्र-छात्राओं को बेहतर शिक्षा मिल सके।

यह भी पढ़ें: Antigen के बाद मुख्तार अंसारी की RT-PCR Report भी आई कोरोना पॉजिटिव, जानें डाक्टरों ने क्या कहा

More from उत्तर प्रदेशMore posts in उत्तर प्रदेश »

Be First to Comment

    Thanks to being part of My Daily Bihar News .

    %d bloggers like this: