Press "Enter" to skip to content

31 जुलाई तक बुक टिकट का रिफंड 9 माह बाद तक ले सकेंगे, इसके लिए यात्री काे ओरिजीनल टिकट लेकर जाना हाेगा [Source: Dainik Bhaskar]



मार्च 2019 से जुलाई के बीच बुक कराए गए टिकट को रिफंड कराने की अवधि में रेलवे ने तीन महीने बढ़ दी है। अब यात्री छह माह के बजाए नाै माह तक रिफंड प्राप्त कर सकेंगे। अब तक रिफंड नहीं लेने वाले या टिकट रद्द नहीं कराने वाले यात्रियों को इसका लाभ मिलेगा। रेलवे ने इस आदेश के बाबत सूचना जारी कर दी है। यात्री रेलवे के टिकट काउंटर जाकर रिफंड प्राप्त कर सकते हैं। इसके लिए यात्री काे ओरिजीनल टिकट लेकर जाना हाेगा। काउंटर के आलावे 139 या आईआरसीटीसी की वेबसाइट पर भी टिकट रद्द कराकर रिफंड प्राप्त किया जा सकता है।

यात्रा तिथि से छह माह की समाप्ति के बाद धन वापसी के लिए मुख्य दावा अधिकारी (रिफंड) अथवा मुख्य वाणिज्य प्रबंधक/रिफंड के समक्ष टीडीआर/आवेदन के साथ पीआरएस काउंटर से जारी मूल टिकट जमा करने वाले यात्री भी फुल रिफंड ले सकते हैं। यह सुविधा 21 मार्च से 31 जुलाई तक रद्द की गई सिर्फ उन ट्रेनों के लिए मिलेगी, जो नियमित थी और काेविड के कारण रद्द कर दी गई थी। एक मई या उसके बाद से चलने वाली कोविड स्पेशल ट्रेनों पर रिफंड की सुविधा लागू नहीं होगी। ई-टिकट कटाने वाले यात्रियाें को रिफंड की राशि के लिए काेई मशक्कत नहीं करनी पड़ेगी। उनके खाते में राशि स्वत: पहुंच जाएगी।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


By July 31, you will be able to take refund of the booked ticket till 9 months, for this, the passenger will have to take the original ticket.

More from झारखंड खबरMore posts in झारखंड खबर »

Be First to Comment

    Thanks to being part of My Daily Bihar News .

    %d bloggers like this: