Press "Enter" to skip to content

100 दिन से गायब दो पटवारी, आरआरटी में थी ड्यूटी, कलेक्टर बोले जांच कराएंगे




करीब 100 दिन पहले तत्कालीन कलेक्टर प्रीति मैथिल नायक ने तहसील के करीब 70 पटवारियों की ड्यूटी कोरोना के संदेहियों की खोजबीन, संस्थागत कोरंटीन किए गए लोगों की देखरेख में लगाई थी। जानकारी मिली है कि इनमें से दो पटवारी ब्रजकिशोर पाठक और संदीप दुबे पहले ही दिन से गायब हैं। इन दोनों की ड्यूटी आरआरटी के साथ लगाई थी। बताया जाता है कि इन दोनों ने वरिष्ठ अधिकारियों के मौखिक निर्देशों का भी पालन नहीं किया।

इधर इन दो पटवारियों के व्यवहार से बाकी पटवारियों में रोष है। उनका कहना है कि अफसरों की शह के चलते ये सब चल रहा है। एक ओर हम लोग हैं जो बिना एक दिन की छुट्‌टी लिए लगातार ड्यूटी कर रहे हैं। पटवारियों का कहना है कि अगर इस मामले में उचित कार्रवाई नहीं हुई तो हम लोग वरिष्ठ अधिकारियों को शिकायत करेंगे। इधर इस मामले में कलेक्टर दीपकसिंह का कहना है कि इस शिकायत की जांच कराई जाएगी।

आरआरटी के डॉक्टर ने गाड़ी में जगह कम होने के कारण मुझे रुकने के लिए कहा था। उन्होंने कहा कि जब आपकी जरूरत होगी तो बुला लेंगे, इसलिए मैं टीम के साथ नहीं गया। इसके बाद मैं बहेरिया चौराहा से लेकर मकरोनिया में कोरोना से जुड़ी ड्यूटी कर रहा हूं।
– बृजकिशोर पाठक, पटवारी, सागर
आरआरटी के डायरेक्टर ने मेरी ड्यूटी हटा दी थी
इस मामले में पटवारी संदीप दुबे से भी बात की गई, तो उन्होंने के कहा कि मेरी ड्यूटी आरआरटी के डायरेक्टर ने हटा दी थी। जब उनसे डायरेक्टर का नाम पूछा गया तो वह बता नहीं पाए बात दे कि आर आरटी में डारेक्टर का कोई पद ही नहीं है।

    <br><br>
        <a href="https://f87kg.app.goo.gl/V27t">Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today</a>
    <section class="type:slideshow">
                </section>

Be First to Comment

Thanks to being a part of My Daiky bihar news .

%d bloggers like this: