Press "Enter" to skip to content

1 जुलाई को सो जाएंगे देव, फिर 148 दिन बाद गूंजेंगी शहनाई




1 जुलाई को देवशयनी एकादशी के बाद से मांगलिक कार्यों पर पाबंदी लग जाएगी। इसके बाद 25 नवंबर को देवउठनी एकादशी पर ही शहनाइयां बजेंगी। यानी अब सिर्फ एक दिन का मुहूर्त ही विवाह के लिए रह गया है। 30 जून को ही विवाह का मुहूर्त बचा है।
हालांकि 29 जून को भड़ली नवमीं है। इस दिन अबूझ मुहूर्त होता है, लेकिन इस बार भड़ली नवमीं को भी विवाह का मुहूर्त नहीं है। हालांकि भड़ली नवमीं को अबूझ मुहूर्त होने के कारण कुछ लोग इस दिन विवाह कर सकते हैं। इसके बाद नवंबर में 2 दिन और दिसंबर में 7 दिन ही मुहूर्त रहेंगे। इसके बाद अगले वर्ष अप्रैल 2021 तक विवाह के लिए मुहूर्त का इंतजार करना होगा। पं. विश्वनाथ शुक्ल ने बताया नए साल 2021 में जनवरी से मार्च तक गुरु व शुक्र ग्रहों के अस्त रहने पर मुहूर्त नहीं रहेंगे।

नवंबर-दिसंबर के बाद करना होगा 3 माह इंतजार
पंडित शुक्ल के मुताबिक नवंबर में देवउठनी एकादशी के बाद 26 व 27 नवंबर को विवाह मुहूर्त हैं, जबकि दिसंबर में 1, 2, 6, 7, 8, 9 व 11 तारीखों को ही विवाह के लिए मुहूर्त रहेंगे। इस तरह नवंबर-दिसंबर में देवउठनी एकादशी का दिन शामिल कर लिया जाए तो भी 10 दिन विवाह मुहूर्त रहेंगे। शुक्ल के अनुसार जिनके विवाह इन तिथियों में नहीं हो पाएंगे, उन्हें चार माह बाद 22 अप्रैल 2021 तक इंतजार करना पड़ेगा। हालांकि 16 फरवरी 2021 को वसंत पंचमी पर अबूझ मुहूर्त वाला दिन होने के कारण विवाह हो सकते हैं।

अगले साल 46 दिन ही रहेंगे विवाह के मुहूर्त
पंडित शुक्ल ने बताया अगले साल 22 अप्रैल 2021 से दिसंबर 2021 तक करीब 46 दिन मुहूर्त रहेंगे। अप्रैल में 6, मई में 10, जून में 11, जुलाई में 6, नवंबर में 7 और दिसंबर में 6 दिन मुहूर्त रहेंगे।

बाजार में लौटी रौनक हर तरफ हो रही बिक्री
लॉकडाउन के बाद जब से बाजार खुला है, उसके बाद तेजी से बाजार में रौनक लौटने लगी है। विवाह भले ही कम हुए लेकिन लोगों ने खरीदारी जमकर की। ज्वेलरी की दुकान हो या कपड़ो की या फिर गिफ्ट आइटम की दुकानों पर पूछ परख देखी जा रही है।

लॉकडाउन के कारण नहीं हुए अधिक विवाह
इस वर्ष लॉकडाउन के कारण अधिक विवाह नहीं हुए हैं। आखातीज पर अबूझ मुहूर्त में हर साल जिलेभर में बड़ी संख्या में विवाह होते हैं, लेकिन इस बार अधिक विवाह नहीं हुए। जिन्होंने विवाह किए उन्होंने भी सीमित संख्या में छोटा आयाेजन कर रस्म पूरी की।

 <br><br>
        <a href="https://f87kg.app.goo.gl/V27t">Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today</a>
    <section class="type:slideshow">
                </section><img src="https://i9.dainikbhaskar.com/thumbnails/680x588/web2images/www.bhaskar.com/2020/06/29/" title="1 जुलाई को सो जाएंगे देव, फिर 148 दिन बाद गूंजेंगी शहनाई" />

Be First to Comment

    Thanks to being a part of My Daiky bihar news .

    %d bloggers like this: