Press "Enter" to skip to content

साैंदर्यीकरण के नाम पर सुखलदरी जलप्रपात की सीढ़ियाें में लगी घटिया टाइल्स दो महीने में ही टूटी

धुरकी प्रखंड के मशहूर कनहर नदी स्थित सुखलदरी फाॅल मे पर्यटकों को लुभाने के लिए तथा सौंदर्यीकरण कार्य कर पर्यटन स्थल बनाने के जिला प्रशासन के उद्देश्य पर ठेकेदार ने पानी फेर दिया है। सुखलदरी फाॅल के सौंदर्यीकरण कार्य मे बहुत बड़ी घोर लापरवाही और अनियमितता बरता गया है।फाॅल तक उतरने के लिए पूर्व मे निर्माण सीढिय़ों को लाखों रुपए के मरम्मती और सौंदर्यीकरण के नाम पर ठेकेदार के द्वारा घटिया और निम्न स्तर का टाइल्स बिछाकर छोड़ दिया है। वहीं सीढिय़ों और बैठने वाले शेड मे उक्त टाइल्स निर्माण अवधि के दो माह बाद ही टूटकर बिखरे पड़े हैं।इससे स्पष्ट प्रतीत होता है की विभागीय इंजीनियर और अधिकारियों की मिलीभगत से ठेकेदार ने घटिया निर्माण कर सौंदर्यीकरण के नाम पर लाखों रुपए का बंदरबांट किया है। वहीं इस संबंध में स्थानीय भाजपा नेता शशी कमलापुरी ने कहा की सौंदर्यीकरण के कार्य मे ठेकेदार विभागीय जेई की मिलीभगत से सबसे घटिया स्तर का टाइल्स और सामग्री का प्रयोग कर काम किया गया हैजो निर्माण के दो माह बाद ही टूटकर बिखरे हैं। उन्होंने विधायक भानु प्रताप शाही से मांग करते हुए कहा है की ऐसे भ्रष्ट ठेकेदार और इंजीनियर पर कार्रवाई करें। ग्रामीण रवि सिंह ने कहा की सौंदर्यीकरण काम मे ठेकेदार ने घटिया सामग्री और टाइल्स का कार्य किया है।
Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


धुरकी प्रखंड के मशहूर कनहर नदी स्थित सुखलदरी फाॅल मे पर्यटकों को लुभाने के लिए तथा सौंदर्यीकरण कार्य कर पर्यटन स्थल बनाने के जिला प्रशासन के उद्देश्य पर ठेकेदार ने पानी फेर दिया है। सुखलदरी फाॅल के सौंदर्यीकरण कार्य मे बहुत बड़ी घोर लापरवाही और अनियमितता बरता गया है।

फाॅल तक उतरने के लिए पूर्व मे निर्माण सीढिय़ों को लाखों रुपए के मरम्मती और सौंदर्यीकरण के नाम पर ठेकेदार के द्वारा घटिया और निम्न स्तर का टाइल्स बिछाकर छोड़ दिया है। वहीं सीढिय़ों और बैठने वाले शेड मे उक्त टाइल्स निर्माण अवधि के दो माह बाद ही टूटकर बिखरे पड़े हैं।

इससे स्पष्ट प्रतीत होता है की विभागीय इंजीनियर और अधिकारियों की मिलीभगत से ठेकेदार ने घटिया निर्माण कर सौंदर्यीकरण के नाम पर लाखों रुपए का बंदरबांट किया है। वहीं इस संबंध में स्थानीय भाजपा नेता शशी कमलापुरी ने कहा की सौंदर्यीकरण के कार्य मे ठेकेदार विभागीय जेई की मिलीभगत से सबसे घटिया स्तर का टाइल्स और सामग्री का प्रयोग कर काम किया गया है

जो निर्माण के दो माह बाद ही टूटकर बिखरे हैं। उन्होंने विधायक भानु प्रताप शाही से मांग करते हुए कहा है की ऐसे भ्रष्ट ठेकेदार और इंजीनियर पर कार्रवाई करें। ग्रामीण रवि सिंह ने कहा की सौंदर्यीकरण काम मे ठेकेदार ने घटिया सामग्री और टाइल्स का कार्य किया है।

 <br><br>
        <a href="https://f87kg.app.goo.gl/V27t">Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today</a>
    <section class="type:slideshow">
                </section><img src="https://i9.dainikbhaskar.com/thumbnails/680x588/web2images/www.bhaskar.com/2020/06/28/" title="साैंदर्यीकरण के नाम पर सुखलदरी जलप्रपात की सीढ़ियाें में लगी घटिया टाइल्स दो महीने में ही टूटी" />
More from National NewsMore posts in National News »
More from झारखंड खबरMore posts in झारखंड खबर »

Be First to Comment

    Thanks to being a part of My Daiky bihar news .

    %d bloggers like this: