Press "Enter" to skip to content

साल 1987 से लगातार 32 बार फेल हुए, लेकिन कोरोना के कारण इस साल 33वीं बार में पास की 10वीं का परीक्षाDainik Bhaskar



कोरोना महामारी के कारण मौजूदी दौर में देश -दुनिया बुरी तरह से प्रभावित है। एक तरफ जहां सभी स्कूल- कॉलेज और पढ़ाई इसकी वजह से बाधित हो रहे हैं, वहीं दूसरी तरफ तेलंगाना के 51 वर्षीय शख्स को कोरोना की वजह से फायदा मिल गया। दरअसल, लगातार 33 साल से 10वीं की परीक्षा दे रहे मोहम्मद नूरुद्दीन इस बार पास हो गए हैं।

कोरोना के कारण बिना परीक्षा पास हुए स्टूडेंट्स

कोरोना के कारण तेलंगाना सरकार का 10वीं कक्षा के सभी छात्रों को प्रमोट करने का फैसला 51 साल के मोहम्मद नूरुद्दीन के लिए फायदेमंद रहा। हैदराबाद के रहने वाले नूरुद्दीन हर साल 10वीं की परीक्षा देते थे, लेकिन इंग्लिश में फेल हो जाते थे। लेकिन, इस साल कोरोना के कारण परीक्षा ही नहीं हो पाईं। ऐसे में राज्य सरकार ने 10वीं के सभी स्टूडेंट्स को प्रमोट करने को फैसला और नूरुद्दीन भी पास होकर 11वीं में पहुंच गए।

पहली बार साल 1987 में दी परीक्षा

नूरुद्दीन ने पहली बार साल 1987 में 10वीं की परीक्षा दी थी। जिसके बाद से लगातार अंग्रेजी में फेल होने के कारण उन्होंने इस साल ओपन एग्जाम देने का फैसला किया। इंटरनेट पर वायरल हो रहे नूरुद्दीन के एक वीडियो में, वह पिछले 33 वर्षों में एकत्र किए एडमिट कार्ड और परीक्षा पास दिखाते नजर आ रहे हैं।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


51 years old man Failed 32 times in exams since 1987, but due to Corona, this year passed the 10th examination in 33rd time

More from Career & JobsMore posts in Career & Jobs »

Be First to Comment

    Thanks to being part of My Daily Bihar News .

    %d bloggers like this: