Press "Enter" to skip to content

सालभर भी नहीं चली थी ओम पुरी की पहली शादी, मारपीट का आरोप लगाकर अलग हो गई थी दूसरी वाइफ [Source: Dainik Bhaskar]



बॉलीवुड एक्टर ओम पुरी की 6 जनवरी को डेथ एनिवर्सरी है। आज ही के दिन साल 2017 में मुंबई में उनका देहांत हो गया था। वर्सेटाइल एक्टर और पद्मभूषण से सम्मानित ओमपुरी का जन्म 18 अक्टूबर, 1950 को पटियाला में हुआ था। बॉलीवुड के साथ कई हॉलीवुड फिल्मों में काम कर चुके ओम की पर्सनल लाइफ काफी कॉन्ट्रोवर्शियल रही थी।

ओम का बचपन काफी मुश्किलों में बीता था। ओम की पत्नी नंदिता ने उन पर एक किताब लिखी है ‘अनलाइकली हीरो: ओम पुरी’। इस किताब में उन्होंने ओम पुरी की जिंदगी से जुड़े कई खुलासे किए थे। आइए जानते हैं ओम पुरी से जुड़े कुछ किस्से…

साल भर भी नहीं चली थी पहली शादी

पत्नी नंदिता के साथ ओम पुरी।
  • ओम पुरी ने दो शादियां की थीं। 1990 में उन्होंने अन्नू कपूर की बहन सीमा कपूर से पहली शादी की थी। शादी से पहले दोनों एक-दूसरे को 11 सालों से जानते थे। सीमा ने ही ओम को प्रपोज किया था। उस वक्त ओम किसी और के साथ रिलेशनशिप में थे, इसलिए उन्होंने सीमा को ना कर दिया था। सीमा के साथ ओम पुरी का रिश्ता साल भर भी नहीं टिक पाया। शादी के कुछ महीनों बाद ही ओम पुरी की लाइफ में जर्नलिस्ट नंदिता पुरी की एंट्री हो गई थी।
  • कोलकाता में एक इंटरव्यू के दौरान नंदिता से ओम पुरी की मुलाकात हुई। शादीशुदा होते हुए भी ओम पुरी का नंदिता से अफेयर था। इससे नाराज होकर उनकी पत्नी सीमा कपूर घर छोड़कर चली गई थीं। सीमा का मिसकैरेज भी हुआ था। इसके कुछ महीनों बाद ओम पुरी ने उन्हें तलाक दे दिया था। सीमा ने नंदिता पर उनका घर तोड़ने के आरोप लगाए थे। तलाक के बाद 1993 में उन्होंने नंदिता पुरी से शादी की, जिससे उन्हें एक लड़का (ईशान) भी है। नंदिता ने ओम पर घरेलू हिंसा का आरोप लगाया था। 2013 में दोनों अलग हुए थे।

अंबाला में जन्मे थे ओम पुरी, पिता करते थे रेलवे में नौकरी

  • नंदिता ने अपनी किताब में बताया है कि ओम पुरी का जन्म 18 अक्टूबर, 1950 को हरियाणा के अंबाला शहर में हुआ था। उनके बचपन का अधिकांश समय यहीं बीता। उनके पिता रेलवे में नौकरी करते थे, इसके बावजूद परिवार का गुजारा मुश्किल से होता था। ओम पुरी का परिवार जिस घर में रहता था। उसके पास एक रेलवे यार्ड था।
  • ओम को ट्रेनों से लगाव था, रात में वह अक्सर रेलवे यार्ड में जाकर किसी भी ट्रेन में सो जाते थे। यही वह वक्त था, जब ओम सोचते थे कि में बड़ा होकर एक रेलवे ड्राइवर बनूंगा। इस दौरान ओम की मां उन्हें लेकर पटियाला स्थित अपने मायके सन्नौर चली गई थीं।

ऐसा रहा 45 साल का ओम पुरी का करियर

  • ओम पुरी ने अपने फिल्मी सफर की शुरुआत मराठी नाटक पर आधारित फ़िल्म ‘घासीराम कोतवाल’ से की थी। 1980 में रिलीज फ़िल्म ‘आक्रोश’ ओम पुरी के करियर की पहली हिट फ़िल्म साबित हुई। हालांकि दिल का दौरा पड़ने के कारण 6 जनवरी 2017 को 66 साल की उम्र में ओम पुरी का निधन हो गया था।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


Om Puri death anniversary: know some interesting facts about the actor

More from BollywoodMore posts in Bollywood »

Be First to Comment

    Thanks to being part of My Daily Bihar News .

    %d bloggers like this: