Press "Enter" to skip to content

लगातार बारिश से सड़कों पर जलजमाव निचले इलाकों के घरों में भी घुसा पानी



बारिश की शुरुआत के साथ ही सोनपुर नगर पंचायत के इंतजाम की पोल खुलना शुरू हो गया है। नगर के अधिकतर वार्डों में नाले की पानी की सही से निकासी, आधे अधूरे निर्माण व सफाई न होने से अभी से ही नारकीय स्थिति हो गयी है। एसडीओ ने नगर पंचायत क्षेत्र में बारिश के जलजमाव से उत्पन्न होने वाली बाढ़ की स्थिति से निपटने पर भी नगर पंचायत के पदाधिकारियों के साथ बैठक कर जलजमाव की स्थिति उत्पन्न नहीं हो उसके लिए नाले की लगातार सफाई के साथ-साथ जलनिकासी के लिए हर आवश्यक कदम उठाए जाने का निर्देश दे चुके हैं। साथ ही नगर क्षेत्र में अंग्रेजी बाजार से होते नहर एवं मेला के नखास क्षेत्र होते नाले जो गंडक में गिराए जाते है। गंडक नदी में जलस्तर वृद्धि होने की स्थिति में उसके बंद आदि करने पर चौकस नजर बनाए रखने के निर्देश दिए गए हैं।
जेई ने नाला को ही ठहराया जिम्मेवार
नगर पंचायत के जेई मनोरंजन कुमार ने बताया कि हाजीपुर-सोनपुर मुख्य मार्ग में आरसीडी द्वारा बनाए गए नाले मुख्य समस्या का जड़ है। इसके समतल सही नहीं रहने से पानी का बहाव सही तरीके से नहीं होता है।वहीं अन्य नाले का सफाई कार्य युद्धस्तर पर किया जा रहा है। नगर पंचायत के कई वार्डों में काफी दिनों पहले से ही सुस्त रफ्तार से नालों की साफ सफाई का काम चल रहा है। बावजूद इसके यहां बने नगर पंचायत क्षेत्र के अधिकतर नाले का निर्माण इस टेक्निक के साथ हुआ है कि पानी का बहाव होता ही नहीं है और बारिश होते ही नाले का पानी सड़कों पर फैलने लगता है। सोनपुर हाजीपुर मुख्य सड़क के यह नाले का भी यही हाल है। नाले से पानी का बहाव नगर पंचायत के द्वारा तमाम कोशिशें के बाद भी नहीं हुई है। जिससे कई जगह नाले का पानी अभी से ही आसपास फैलने लगा है। अगर यह दुरुस्त नहीं हुआ तो इस वर्ष गत वर्ष से भी खराब स्थिति होगी और बरसात में एक बार फिर सोनपुर की मुख्य सड़कें समेत बड़ा भूभाग लंबे समय से डूबा रहेगा।
पंपसेट से पानी निकालने की हो रही है काेशिश
कार्यपालक पदाधिकारी पंकज कुमार ने बताया आरसीडी द्वारा बने इस नाले से गाय बाजार के पास से पानी का बहाव नहीं हो रहा है। फिलहाल नगर पंचायत नाले के पानी को पंप सेट से निकलवा रही है। जिसके बाद उस समस्या के समाधान की कोशिश की जाएगी। गत वर्ष नगर पंचायत के द्वारा दर्जनों पंप से एक महीने तक लगातार पानी निकासी के बाद भी पूरी तरह जलनिकासी में पसीने छूट गए थे। अथक प्रयास के बाद भी सोनपुर मेला के दौरान भी कई जगहों से जलनिकासी पूरी तरह नहीं हो सकी थी। दूसरी ओर नाले की सफाई के दौरान कई जगह इसके स्लैब हटाकर छोड़ दिए गया है। जिससे पशुओं के साथ-साथ नागरिकों के लिए भी खतरा बना हुआ है। सोनपुर के मीना बाजार से हरिहरनाथ जाने वाली मार्ग हो या पहाड़ी चक या कृषि प्रदर्शनी के बगल से सोनपुर के नखास जाने वाली सड़क यहां नाला ही समस्या बनी हुई है।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today

More from बिहार समाचारMore posts in बिहार समाचार »

Be First to Comment

    Thanks to being a part of My Daiky bihar news .

    %d bloggers like this: