Press "Enter" to skip to content

राहत की खबर: जिले में 6 कोरोना मरीज हुए डिस्चार्ज



जिले में कोरोना पॉजिटिव मरीजों का स्वस्थ होना लगातार जारी है। रविवार को 6 मरीजों को डिस्चार्ज किया गया। इनमें महोबा रोड छात्रावास में बनाए गए कोरोना केयर सेंटर से 3 और सागर रोड के ढड़ारी कोविड आइसोलेशन सेंटर से 3 मरीजों को स्वस्थ होने पर डिस्चार्ज किया गया। अब जिले में तीन ऐक्टिव मरीज हैं। इनमें एक डाॅक्टर और एक महिला सहित एक 13 साल का बच्चा शामिल है। बूदौरा गांव के संक्रमित पिता काे डिस्चार्ज कर दिया गया है पर वह अपने 13 साल के बेटे के साथ आईसोलेशन सेंटर से डिस्चार्ज होने के बाद सेंटर में रुका है। इसी प्रकार पिछले दिनों राजनगर क्षेत्र में पॉजिटिव पाई गई महिला के साथ उसका 2 वर्षीय बच्चा आइसोलेशन सेंटर में ही रहने को मजबूर है।
जिले के 6 कोरोना पॉजिटिव मरीजों को रविवार की सुबह स्वस्थ होने पर स्वास्थ विभाग द्वारा डिस्चार्ज कर दिया गया। सुबह डिस्चार्ज हुए मरीज में दो ईशानगर क्षेत्र में पनौठा, तीन बड़ामलहरा और एक सटई का मरीज शामिल है। इन 6 मरीजों में पिछले दिनों बड़ामलहरा क्षेत्र के बूदौर गांव का कोरोना संक्रमित मरीज भी है, जो दिल्ली में लिए गए सैंपल में पॉजिटिव पाया गया है। स्वस्थ पर किए गए डिस्चार्ज लोगों को डॉक्टर और निर्सिंग स्टाफ ने प्रमाण पत्र देने के साथ ही नए जीवन मिलने पर फूलमाला पहना कर विदा किया। इन 6 कोरोना पाॅजिटिव मरीजों के स्वस्थ हो जाने से अब जिले में सिर्फ 3 कोरोना एक्टिव मरीज बचे हैं।
बड़ामलहरा क्षेत्र में बूदौरा गांव का एक युवक दिल्ली से लौटने पर संक्रमित पाया गया था। इसी दौरान उसका 13 वर्षीय बेटा भी कोरोना पॉजिटिव पाया गया। स्वास्थ्य विभाग ने पिता के साथ बेटे को भी महोबा रोड पर स्थित केयर सेंटर में इलाज के लिए भर्ती कर दिया। रविवार को पिता को डिस्चार्ज कर दिया गया पर बेटा अभी भर्ती है।
कोविड केयर सेंटर प्रभारी डॉ. महर्षि ओझा ने बताया कि स्वस्थ होने पर बूदौर के युवक को सेंटर से डिस्चार्ज कर दिया गया है। पर उसका बेटा भर्ती होने के कारण उसे अाइसोलेशन सेंटर में रखा गया है, जहां पर संदिग्ध मरीजों को रखा जता है। पिता का कहना है कि बेटा पिता के बगैर रुक नहीं पा रहा है। इसलिए उसे कुछ दिन रुकने की अनुमति दी गई है।
मां के साथ 2 साल का बेटा कोविड सेंटर में
पिछले दिनों दिल्ली से राजनगर क्षेत्र के सिमरा पनिहार गांव का तीन सदस्सीय परिवार गांव पहुंचा। स्थानीय प्रशासन ने 27 वर्षीय युवक, उसकी 25 वर्षीय पत्नी सहित 2 साल के बच्चे को क्वारेंटाइन सेंटर में रखा। इसके बाद राजनगर के डॉक्टर ने इन तीनों के सैंपल लेते हुए जांच के लिए भेजे, इसमें यह महिला कोरोना संक्रमित पाई गई। इसे स्वास्थ विभाग ने इलाज के लिए महोबा रोड स्थित छात्रावास में बनाए गए कोविड सेंटर में भर्ती करा दिया। तभी से इस महिला के साथ उसका 2 वर्षीय बेटा भी उसी के साथ रह रहा है।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


Relief news: 6 corona patients discharged in the district

Be First to Comment

Thanks to being a part of My Daiky bihar news .

%d bloggers like this: