Press "Enter" to skip to content

रंगदारी की धमकी से व्यवसायी खौफजदा, पुलिस के हाथ खाली, लोकल लिंक तक की पहचान नहीं हो सकी [Source: Dainik Bhaskar]



जेल में बंद गैंगस्टर सुजीत सिन्हा, पीएलएफआई और अमन सिंह जैसे नामाें से धनबाद के व्यवसायी खाैफजदा हैं। धनबाद के कई व्यवसायियों को इन तीनों के नाम पर अलग-अलग ऑडियाे और वीडियाे मैसेज भेज कर रंगदारी की मांग की गई है। रंगदारी नहीं देने पर खून बहाने की धमकी दी है। खौफ की स्थिति ऐसी है कि इन तीनों नामों के जिक्र से ही व्यवसायी चुप्पी साध लेते हैं। अब तक पुलिस व्यवसायियों के लिए डर की वजह बने इन गैंगों पर नकेल नहीं लगा पाई है।

एसएसपी ने मातहत अधिकारियाें के साथ बैठक कर इनके नेटवर्क काे खत्म करने की जिम्मेवारी साैंपी है लेकिन व्यवसायियाें काे भराेसा बहाल नहीं हो पा रहा है। पुलिस अभी तक यह भी पता नहीं लगा पाई है कि इन गैंगों काे व्यवसायियों की जानकारियां काैन उपलब्ध करा रहा है। लोकल लिंक भी अबूझ पहेली बनी रहने के कारण व्यवसायी ज्यादा चिंतित हैं। जिन्हें रंगदारी के लिए ऑडिया-वीडियाे मैसेज भेजे गए, उन्होंने साेशल मीडिया से भी दूरी बना ली है। सुरक्षा के दृष्टिकाेण से वे घरों में सिमट कर रह गए है‌ं।

जीटा, जिला चैंबर व जनप्रतिनिधियों ने विधि-व्यवस्था पर उठाए सवाल, कार्रवाई की मांग

आपराधिक गिरोहों की नकेल कसना जरूरी- राजीव शर्मा
जीटा के महासचिव राजीव शर्मा ने कहा कि व्यवसायियों के मनोबल के लिए ऐसे गैंगों पर फौरन नकेल कसनी होगी। जिन्हें धमकी मिली है, उन्हें बॉडीगार्ड दें और उनके प्रतिष्ठानों में पुलिस बल की तैनाती होनी चाहिए। चैंबर के साथ पुलिस समन्वय रखे।

डीजीपी व सीएम से मिलकर मांगेंगे सुरक्षा- चेतन गोयनका
जिला चैंबर के अध्यक्ष चेतन गाेयनका और महासचिव अजय नारायण लाल ने कहा कि व्यवसायियाें काे रंगदारी के लिए फाेन आ रहे हैं। वे जिला प्रशासन, डीजीपी काे अवगत कराएंगे। साथ ही सीएम से मिल व्यापारियों के लिए सुरक्षा मांगेंगे।

यह खतरे की घंटी, कार्रवाई करे पुलिस- प्रभात सुरोलिया
बैंकमाेड़ चैंबर के अध्यक्ष प्रभात सुराेलिया ने कहा कि कई दिनाें से व्यापार-उद्याेग से जुड़े लाेगाें से रंगदारी मांगी जा रही है। यह खतरे की घंटी है। पुलिस कड़ी कार्रवाई करे, ताकि व्यापारी और उद्याेगपति निर्भीक हाेकर व्यवसाय कर सकें।

सरकार गंभीर है, व्यापारी निर्भीक रहें- अमितेश सहाय
झामुमो के व्यावसायिक प्रकोष्ठ के केंद्रीय अध्यक्ष अमितेश सहाय ने कहा कि पुलिस कार्रवाई कर रही है। राज्य सरकार भी इस मामले में गंभीर है। इसलिए व्यापारियों को डरने की जरूरत नहीं है। वे निर्भीक होकर अपना कारोबार करें।

विधि-व्यवस्था चौपट- सांसद
सांसद पीएन सिंह बोले- विधि-व्यवस्था पूरी तरह चाैपट है। अपराधियों को डर ही नहीं है। यही कारण है कि वे मैसेज, ऑडियाे व वीडियाे भेज कर रंगदारी की मांग कर रहे हैं। सरकार व पुलिस काे इन पर अंकुश लगाना चाहिए ताकि व्यवसायियाें के मन से भय खत्म हाे।

अपराधी बेखौफ- राज सिन्हा
विधायक राज सिन्हा ने कहा कि राज्य में लॉ एंड ऑर्डर चाैपट है। व्यवसायी डरे हैं, अपराधी खुलेआम लेवी मांग रहे हैं और पुलिस उन्हें पकड़ नहीं पा रही है। राज्य सरकार तमाशबीन बनी हुई है। पुलिस अपराधियाें के खिलाफ कार्रवाई कर व्यवसायियाें काे सुरक्षा दे।

पुलिस व्यवसायियों की सुरक्षा को लेकर गंभीर है। उन्हें आए मैसेज और कॉल की जांच कर रही है। रंगदारी में तीन अपराधियों को गिरफ्तार कर जेल भेजा है। व्यवसायियों को डरने की जरूरत नही है। अपराधियों के पूरे नेटवर्क को पुलिस ध्वस्त करेगी।
असीम विक्रांत मिंज, एसएसपी

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


फाइल फोटो

More from झारखंड खबरMore posts in झारखंड खबर »

Be First to Comment

    Thanks to being part of My Daily Bihar News .

    %d bloggers like this: