Press "Enter" to skip to content

भारत में पाया गया कोरोना वायरस का नया वेरिएंट टेंशन देने वाला है या नहीं, पढ़ें WHO ने क्या कहा [Source: दैनिक भास्कर हिंदी]

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। भारत में पाए गए कोरोनावायरस वेरिएंट को लेकर अभी से ही किसी निष्कर्ष पर पहुंचने के खिलाफ विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने चेतावनी दी है। WHO ने भारत में पाए गए इस नए वेरिएंट को अभी भी चिंताजनक करार नहीं दिया गया है। WHO के प्रवक्ता के मुताबिक इस वक्त यह अभी भी स्पष्ट नहीं है कि भारत में हाल के महीनों में संक्रमण के मामलों में हुई वृद्धि के लिए यह वेरिएंट किस हद तक जिम्मेदार है।

प्रवक्ता के मुताबिक, मामलों की संख्या में हुई इस वृद्धि के लिए कई चीजें जिम्मेदार हो सकती हैं, जैसे कि त्यौहार और अन्य समारोह वगैरह, जिसमें भारी संख्या में लोगों ने भाग लिया था। ब्रिटेन में पाया गया कोरोना वेरिएंट भारत में महामारी को लेकर पैदा हुई इस स्थिति को प्रभावित कर सकता है। भारत में 24 घंटे में 3 लाख 19 हजार 315 मरीज इस महामारी से ठीक हुए हैं। ब्रिटेन, दक्षिण अफ्रीका और ब्राजील में पाए गए कोविड-19 के वेरिएंट्स को डब्ल्यूएचओ की तरफ से चिंताजनक करार दिया गया है। भारत में नए वेरिएंट का पता 1 दिसंबर, 2020 को लगा।

संगठन के मुताबिक, अगर यह अधिक आसानी और तेजी के साथ फैलने की क्षमता रखता है, तो इसे चिंता का कारण माना जाएगा क्योंकि अधिकतर गंभीर मामलों में संक्रमण का प्रभाव इंसान के इम्युन सिस्टम पर पड़ता है, जिसके बाद उपचार के प्रति इसकी प्रतिक्रिया कम हो जाती है। डब्ल्यूएचओ के प्रमुख ट्रेडोस एडहोम घेब्येयियस ने सोमवार को जेनेवा में कहा कि कुल मिलाकर हर हफ्ते मामलों की संख्या में वृद्धि होने का यह क्रम नौ महीने से जारी है और मौतों की संख्या में वृद्धि छह महीनों से जारी है। उन्होंने आगे कहा, भारत में महामारी को लेकर अभी जिस तरह की स्थिति बनी हुई है, वह हृदयविदारक है।

 

.Download Dainik Bhaskar Hindi App for Latest Hindi News..World Health Organization reserves judgement on Indian coronavirus variant. ..

More from दिल्लीMore posts in दिल्ली »

Be First to Comment

    Thanks to being part of My Daily Bihar News .

    %d bloggers like this: