Press "Enter" to skip to content

निवास पर थाना प्रभारी का कब्जा हाेने से डॉक्टरों को मिला बहाना, मुख्यालय पर नहीं रहते




महाराजपुर प्राथमिक स्वास्थ केंद्र के बगल में डॉक्टरों के रहने के लिए विभाग द्वारा निवास बनाया गया है। पर इस निवास पर कई सालों से वहां के थाना प्रभारी और पुलिस कब्जा किए हुए है। इस कारण यहां पदस्थ डॉक्टरों को निवास न होने का बहाना रहता है और वे अपने मुख्यालय पर नहीं रुकते। इस कारण क्षेत्र के गंभीर मरीजों को आए दिन परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। जबकी विभाग द्वारा यहां पर दो डॉक्टर पदस्थ किए गए हैं।
महाराजपुर बस स्टैंड स्थित पुलिस चौकी के पीछे और प्राथमिक स्वास्थ केंद्र के बगल में डॉक्टर के रहने के लिए विभाग द्वारा निवास बनाया गया है। पर इस निवास पर वहां के थाना प्रभारी और पुलिस मिलकर कब्जा किए हुए हैं। इस कारण इस अस्पताल में पदस्थ डॉ. उमराव सिंह और डॉ. आलोक चौरसिया मुख्यालय पर नहीं रुकते। दोनों डॉक्टरों के न रुकने से इस अस्पताल में आने वाले गंभीर मरीजों को परेशानी का सामना करना पड़ता है।
कोविड-19 संक्रमण शुरू होने के बाद स्वास्थ विभाग के सीएमएचओ डॉ. विजय पथौरिया और नौगांव बीएमओ डॉ. रविंद्र पटेल इस संबंध में कई बार महाराजपुर थाना प्रभारी को पत्र लिखकर डॉक्टर निवास खाली करने के लिए कह चुके हैं। पर अभी तक पुलिस द्वारा इस क्वार्टर को खाली नहीं किया गया। जबकी थाने के बाजू में बने निवास पर थाना प्रभारी रह रहे हैं। इस मामले में नौगांव एसडीओपी मनमोहन सिंह बघेल का कहना है कि महाराजपुर पुलिस डॉक्टर के निवास पर कब्जा किए है, इस बात की मुझे जानकारी नहीं है। आप ने इस मामले से अवगत कराया है, में जल्द ही थाना प्रभारी से कहकर खाली करवाता हूं।
निवास खाली करने पत्र थाने भिजवा: महाराजपुर अस्पताल प्रभारी डॉ. आलोक चौरसिया ने बताया कि पिछले दो माह में सीएमएचओ डॉ. विजय पथौरिया और बीएमओ डॉ. रविंद्र पटेल द्वारा इस निवास को खाली करने के लिए थाना प्रभारी को पत्र लिखे गए। जिन्हें थाना प्रभारी को पहुंचा दिए गए हैं, इसके साथ ही नौगांव एसडीएम विनय द्विवेदी को भी इस मामले से अवगत कर दिया गया है। एसडीएम ने निवास जल्द ही खाली कराने का आश्वासन दिया है। डॉ. चौरसिया ने बताया कि कोरोना काल में दिन के साथ ही रात में ड्यूटी पर रहना पड़ता है। इसलिए ड्यूटी डॉक्टर के रुकने के लिए निवास होना आवश्यक है।

कल ही दिखवाता हूं
इस मामले में नौगांव एसडीएम विनय द्विविदी का कहना है कि आज ही मुझे महाराजपुर अस्पताल के प्रभारी डॉक्टर ने इस मामले से अवगत कराया है। इस संबंध में कार्रवाई कर जल्द ही डॉक्टर के निवास को खाली करवाता हूं।

   <br><br>
        <a href="https://f87kg.app.goo.gl/V27t">Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today</a>
    <section class="type:slideshow">
                </section><img src="https://i9.dainikbhaskar.com/thumbnails/680x588/web2images/www.bhaskar.com/2020/06/29/" title="निवास पर थाना प्रभारी का कब्जा हाेने से डॉक्टरों को मिला बहाना, मुख्यालय पर नहीं रहते" />
More from मध्य प्रदेशMore posts in मध्य प्रदेश »

Be First to Comment

    Thanks to being a part of My Daiky bihar news .

    %d bloggers like this: