Press "Enter" to skip to content

निजी अस्पतालों में बेड बढ़ाने पर विचार, मार्केटों में भीड़ कंट्रोल करने पर जोर [Source: Dainik Bhaskar]



अनलॉक पांच में छूट मिलते ही शहरवासी खूब लापरवाही बरत रहे हैं। इसका नतीजा यह हुआ कि कोरोना संक्रमण तेजी से फिर फैलने लगा है। अक्टूबर में जहां संक्रमितों का रोज आंकड़ा 150 से 200 तक पहुंच गया था, वहीं नवंबर में इसकी रफ्तार काफी तेजी से बढ़ रही है। एक सप्ताह से संक्रमितों का आंकड़ा रोज 600 के ऊपर जा रहा है। अचानक संक्रमितों की संख्या बढ़ने से स्वास्थ्य विभाग के पसीने छूट रहे हैं।

अधिकारी बोले एक बार फिर कोविड-19 प्रोटोकॉल का सख्ती से पालन कराना जरूरी हो गया है। अन्यथा शहर की हालत खतरनाक हो जाएगी। इसके साथ-साथ टेस्टिंग संख्या बढ़ाने पर भी जोर दिया जाएगा। मंगलवार को डीसी की अध्यक्षता में क्राइसेस मैनेजमेंट की समीक्षा बैठक होगी।

इसमें स्वास्थ्य विभाग कोरोना नियंत्रण के लिए अपने सुझाव प्रशासन को देगा। उसे लागू कराना पुलिस प्रशासन की जिम्मेदारी होगी। स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों पर नजर डालें तो सोमवार को संक्रमितों के 648 मामले आए। इस दौरान तीन लोगों की मौत भी हो गई।

सीएमओ डॉ. रणदीप सिंह पूनिया के अनुसार लोगों की लापरवाही के कारण कोरोना का संक्रमण फिर तेजी से फैल रहा है। बाजारों में न कोविड प्रोटोकाल का पालन हो रहा है और न लोग मास्क पहन रहे हैं। सोशल डिस्टेंस्टिंग की खुलेआम धज्जियां उड़ाई जा रही हैं। रेलवे स्टेशन हो या बस स्टाप। हर जगह लोग बेखौफ सफर कर रहे हैं।

उन्होंने कहा बसों में एक-एक सीट छोड़कर सवारियां बैठाने की नसीहत दी गई थी। लेकिन लोग पूरी सीट पर बैठकर ही नहीं खड़े होकर भी सफर कर रहे हैं। सीएमओ ने कहा अभी नहीं संभले तो एक-एक आदमी 100-100 लोगों को संक्रमित कर सकता है।

कोरोना से 24 घंटे में तीन की मौत, 648 नए केस आए
कोरोना से 24 घंटे में सोमवार को तीन मरीजों की मौत हो गई। जबकि 648 नए केस भी आए। इस दौरान ठीक होने वाले 336 मरीजों को घर भेज दिया गया। अब जिले में संक्रमितों का आंकड़ा 32881 व ठीक होने वालों का आकड़ा 29182 तक पहुंच गया। डिप्टी सीएमओ डॉ. रामभगत के अनुसार जिले में अभी तक 281860 लोगों के सैंपल लैब भेजे गए।

इनमें से 248567 की निगेटिव रिपोर्ट आई। जबकि 412 की रिपोर्ट आनी बाकी है। इस समय 323 लोग अस्पताल में दाखिल हैं। जबकि 3420 पॉजिटिव मरीज होम आइसोलेट हैं। इसी प्रकार अभी तक ठीक होने के बाद 29182 मरीजों को अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया गया। जबकि कोरोना से अभी तक 279 मरीजों की मौत हो चुकी है।

बाजारों की भीड़ को नियंत्रित करना होगा:

सीएमओ ने कहा त्यौहारी सीजन में बाजारों में उमड़ी भीड़ को देख ऐसा लग रहा है कि लोगों में कोरोना का कोई भय नहीं रहा। उन्होंने कहा कि एक बार फिर से बाजारों में भीड़ नियंत्रित करने की जरूरत है। दुकानदार न हैंड सेनिटाइज का प्रयोग कर रहे और न ग्राहकों से करा रहे। कमाई के चक्कर में कोविड प्रोटोकॉल की धज्जियां उड़ा रहे हैं। उन्होंने कहा मंगलवार को होने वाली समीक्षा बैठक में इस मुद्दे को प्रशासन के सामने रखकर भीड़ को नियंत्रित कराने पर जोर दिया जाएगा।

दो गज की दूरी, मास्क का प्रयोग व हाथों की धुलाई जरूरी: सीएमओ ने कहा कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए तीन बातों का हर हाल में पालन करना होगा। सभी को मास्क लगाना अनिवार्य है। दो गज की दूरी मेनटेन करनी होगी और हाथों की धुलाई जरूरी है।

सिर्फ इन्हीं तीन उपायों से कोरोना से बचा सकता है। सभी को ये तीन आदतें अपनी जीवनशैली में अनिवार्य रूप से शामिल करना होगा। उन्होंने कहा इन तीन नियमों का सख्ती से पालन कराने की प्रशासन से सिफारिश की जाएगी।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


बीके अस्पताल में कोरोना की जांच करते हेल्थ विभाग के कर्मचारी।

More from दिल्लीMore posts in दिल्ली »

Be First to Comment

    Thanks to being part of My Daily Bihar News .

    %d bloggers like this: