Press "Enter" to skip to content

धनबाद के पूर्व एसएसपी के खिलाफ साक्ष्य नहीं अब पश्चिम बंगाल के एसडीपीओ पर जांच अटकी




निरसा गांजा तस्करी की जांच कर रही सीआईडी काे तत्कालीन एसएसपी किशाेर काैशल की इस केस में अभी तक भूमिका नहीं मिली है। मामले में सीआईडी ने काेर्ट काे केस डायरी साैंपी है। डायरी में अभी तक की जांच में एसएसपी की भूमिका के बारे में काेई टिप्पणी नहीं की गई है। बंगाल के राजीव राय के अलावा नीरज तिवारी, सुनील पासी और रवि ठाकुर काे टेक्निकल साक्ष्य के आधार पर मामले में संलिप्त दर्शाया गया है। छापेमारी कराने और ईसीएलकर्मी काे फंसाने इन चाराें आराेपियाें की साजिश का जिक्र किया गया है।

ईसीएलकर्मी काे मामले में फंसाए जाने काे लेकर निरसा एसडीपीओऔर थानास्तर पर की गई कार्रवाई की जांच जारी है। सीआईडी की जांच बंगाल के एक पुलिस अधिकारी पर आकर टिकी हुई है। पकड़े गए चाराें आराेपी बंगाल के पुलिस अधिकारी के गुर्गे है, जाे काेयला तस्करी के काराेबार से जुड़े हुए हैं। उसी अधिकारी के इशारे पर गांजा प्लांट करने से लेकर ईसीएलकर्मी काे फंसाए जाने के आराेपाें की पुष्टि हाे रही है। बता दें कि निरसा पुलिस ने ईसीएल कर्मी चिरंजीत घाेष काे 39 किलाे गांजा तस्करी करने के आराेप में पकड़ कर जेल भेजा था। मामले की शिकायत वरीय अधिकारियाें से किए जाने के बाद मामले की जांच सीआईडी कर रही है।

जेल में बंद तीनों आरोपियों…की जमानत हुई नामंजूर

निरसा गांजा तस्करी मामले में जेल में बंद रवि ठाकुर, नीरज तिवारी और सुनील कुमार चौधरी उर्फ सुनील पासी की जमानत खारिज हो गई। प्रधान जिला जज बसंत कुमार गोस्वामी ने निरसा गांजा तस्करी मामले में तीनों की जमानत खारिज की। अभियोजन के तरफ से सीनियर पीपी बीडी पांडेय ने जमानत का विरोध किया था। बचाव पक्ष की ओर से अधिवक्ता अभय भट्ट ने पैरवी की।

    <br><br>
        <a href="https://f87kg.app.goo.gl/V27t">Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today</a>
    <section class="type:slideshow">
                    <figure>
            <a href="https://www.bhaskar.com/local/jharkhand/dhanbad/news/evidence-against-former-ssp-of-dhanbad-no-longer-investigation-on-west-bengal-sdpo-127465600.html">
                <img border="0" hspace="10" align="left" src="https://i10.dainikbhaskar.com/thumbnails/891x770/web2images/www.bhaskar.com/2020/07/01/56_1593562626.jpg">
            <figcaption>Evidence against former SSP of Dhanbad no longer investigation on West Bengal SDPO</figcaption>
            </a> 
        </figure>
                </section>
More from National NewsMore posts in National News »

Be First to Comment

    Thanks to being a part of My Daiky bihar news .

    %d bloggers like this: