Press "Enter" to skip to content

धनतेरस पर लखनऊ में 16 अरब का कारोबार, अमेठी में सबसे महंगी रजिस्ट्री [Source: Patrika : India’s Leading Hindi News Portal]

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
लखनऊ. कोरोना संकट के आठ महीने गुजरने के बाद नवम्बर में आये त्यौहारी सीजन ने लोगों को खुश होने का मौका दे दिया। जहां जनता के लिए दिवाली मुस्कराने की वजह बनी वहीं, व्यापारियों के लिए मन मांगी मुराद। सरकार के राजस्व में भी बढ़ोत्तरी हुई। यानी कि दिवाली पर सभी के चेहरे खिले। धनतेरस अवसर पर अमेठी में सबसे महंगी रजिस्ट्री का रिकॉर्ड बना, जिससे सरकार के खजाने में भी 20 करोड़ से अधिक रुपए जमा किये गये। दूसरी तरफ लखनऊ, कानपुर यूपी के तमाम शहरों में धनतेरस और दिवाली का उत्साह लोगों में देखते बन रहा था। लखनऊ में 18 लाख रुपए का हीरे का सेट बिका तो कानपुर में दो दिन में 1500 करोड़ रुपए की खरीदारी हुई। राजधानी खरीदारी में शुक्रवार को एक ही दिन में 16 अरब रुपए से अधिक की खरीदारी हुई। इसके अलावा नोएडा, गाजिबाद समेत तमाम शहरों में धनतेरस पर खूब धनवर्षा हुई।

अमेठी में यूपी की सबसे महंगी रजिस्ट्री
शुक्रवार को धनतेरस पर अमेठी के मुसाफिरखाना तहसील में 833.04 एकड़ (1,332.86 बीघा) की भूमि का लीज परिवर्तन कराया। इसके लिए ग्रासिम इंडस्ट्रीज ने 1,41,59,52,060 रुपए (करीब डेढ़ अरब) स्टांप शुल्क व 20,22,78,940 रुपये (करीब 20.23 करोड़) पंजीयन शुल्क अदा किया। आदित्य बिरला ग्रुप ने कुल 161 करोड़ रुपये से अधिक ई-पेमेंट के जरिये अदा किये। एडीएम वंदिता ने बताया कि यह रजिस्ट्री स्टाम्प शुल्क की दृष्टि से प्रदेश की अब तक की सबसे बड़ी रजिस्ट्री है।
आदित्य बिरला ग्रुप की ग्रासिम इंडस्ट्रीज लिमिटेड ने ग्रुप की आदित्य बिरला नुवो लिमिटेड से भूमि का लीज परिवर्तन कराया। लीज परिवर्तन उत्तर प्रदेश औद्योगिक विकास प्राधिकरण (यूपीएसआईडीए) ने किया।
कंपनी की तरफ से यह रजिस्ट्री ग्रासिम इंडस्ट्रीज के ज्वाइंट प्रेसीडेंट सुरेश चंद्र डाड ने कराई। रजिस्ट्री के बाद उप निबंधक भानुप्रताप सिंह ने इसके दस्तावेज सुरेश चंद्र को सौंप दिए।

लखनऊ में 18 लाख बिका डायमेंड सेट
राजधानी लखनऊ में धनतेरस पर करोड़ों के गहने बिके। सर्राफा बाजार ने शुक्रवार को 300 करोड़ से अधिक का कारोबार किया। अमीनाबाद के ज्वैलर्स ने 18 लाख रुपए से अधिक का डायमंड सेट बेचा। इसी दिन गोमतीनगर के ज्वैलर्स ने 10 लाख रुपए की कीमत का हीरे का हाल बेचा। गुरुवार को 17.37 लाख की डायमंड करधनी बेची गई थी। इसके अलावा धनतेरस पर इलेक्टॉनिक आइटम का 600 करोड़ रुपए का, इलेक्ट्रिकल्स 125 करोड़ रुपए का, 25 करोड़ का मोबाइल, 50-50 करोड़ का मिठाई, ड्राईफ्रूट्स व पूजन सामग्री का कारोबार हुआ। इसके अलावा 385 करोड़ का ऑटोमोबाइल कारोबार हुआ।

कानपुर में 1500 करोड़ का कारोबार
कानपुर में धनतेरस पर जमकर धनवर्षा हुई। मकान, कार, ज्वैलरी, इलेक्ट्रानिक आदि आइटमों को मिलाकर 1500 करोड़ रुएप का कारोबार हुआ। गुरुवार को 600 करोड़ रुपए की बिक्री हुई, जबकि शुक्रवार को करीब 900 रुपए का कारोबार हुआ। करीब 400 करोड़ रुपए का सराफा कारोबार हुआ। इसमें से पहले दिन 150 करोड़ रुपए जबकि दूसरे दिन 250 करोड़ रुपए का कारोबार हुआ।

More from उत्तर प्रदेशMore posts in उत्तर प्रदेश »

Be First to Comment

    Thanks to being part of My Daily Bihar News .

    %d bloggers like this: