Press "Enter" to skip to content

देशभर में 30 से 50 रुपए किलो गिरे चिकन के दाम; MP के कई शहरों में चिकन मार्केट बंद [Source: Dainik Bhaskar]



बर्ड फ्लू के अटैक ने पूरे देश में चिंता बढ़ा दी है। कई शहरों में मुर्गों के दाम 30 से 50 रुपए प्रति किलो तक गिर गए हैं तो कई जगह एहतियात के तौर पर चिकन मार्केट बंद करा दिए गए हैं। मध्यप्रदेश में केस सामने आने के बाद इंदौर, उज्जैन में चिकन की दुकानें बंद करानी पड़ीं। जयपुर, अजमेर, रांची, वाराणसी आदि शहरों में भी चिकन और अंडे की कीमतों में गिरावट आई है।

राजस्थान: जयपुर, अजमेर में घट गए चिकन और अंडे के दाम
जयपुर के पोल्ट्री फॉर्म की अधिकृत जानकारी के अनुसार यहां अंडे की कीमत 6 रुपए से घटकर 5.50 रुपए और मुर्गे की कीमत जो पहले 95-100 रुपए थी वह घटकर 80-85 रुपए रह गई है। अजमेर में एक अंडे का भाव सवा रुपए घट गया तो बायलर के दाम 20 पर प्रति किलो घट गए। अजमेर में पहले 5.80 रुपए प्रति अंडा व ब्रायलर 110 से 120 रुपए प्रति किलो तक पहुंच गया, लेकिन अभी 4.50 रुपए प्रति अंडा व ब्रायलर 90 से 100 रुपए रह गया।

मध्यप्रदेश : इंदौर में एक सप्ताह के लिए चिकन-अंडा मार्केट बंद, उज्जैन में 1 किमी में अलर्ट
बर्ड फ्लू से मध्य प्रदेश में पक्षियों की मौत का सिलसिला जारी है। इंदौर, खंडवा, उज्जैन में भी कलेक्टर ने चिकन और अंडे की दुकानों को बंद कराने की निर्देश दिए हैं। वहीं, खरगोन, शिवपुरी, बैतूल, गुना, अशोकनगर, दतिया और देवास समेत दूसरे जिलों में पोल्ट्री फाॅर्म्स पर निगरानी की जा रही है। पक्षियों के सैंपल लिए जा रहे हैं।

खरगोन में गुजरात और महाराष्ट्र की सीमाओं पर पक्षियों के आवागमन पर निगरानी रखने के लिए कहा गया है। केरल और उसके सीमावर्ती इलाकों से आने वाले मुर्गे-मुर्गियों पर प्रतिबंध लगा रखा है। खंडवा में इंदिरा सागर बांध में आने वाले प्रवासी पक्षियों के सैंपल भोपाल भेजे हैं। मुर्गी में बर्ड फ्लू का वायरस मिलने के बाद आजाद नगर क्षेत्र में टीम में कार्रवाई की है। 17 दुकानों से 200 बर्ड और 300 अंडे जब्त किए गए। करीब 5 फीट के गड्‌ढे में दफनाया गया है।

उज्जैन में बर्ड फ्लू की दस्तक के बाद आठ से ज्यादा चिकन-मीट शॉप बंद करा दी गई हैं। करीब एक किलोमीटर के दायरे में अलर्ट है। जबलपुर में मुर्गे 75 से 90 रुपए किलो बिक रहे हैं। बर्ड फ्लू की आशंका से पहले 160 से 180 रुपए किलो का भाव चल रहा था। पोल्ट्री फॉर्म संचालकों को आशंका है कि आने वाले समय में यह और गिर सकते हैं। इंदौर के मूसाखेड़ी इलाके में मुर्गा-मुर्गी में लक्षण मिलने के बाद 200 बर्ड और 300 अंडे जब्त कर उन्हें दफना दिया गया है।

छत्तीसगढ़ : प्रदेश भर से सैंपल निगेटिव, अभी तक एक भी केस
छत्तीसगढ़ मे वायरस की जांच के लिए सैंपल भेजे गए हैं। फिलहाल, रिपोर्ट का इंतजार है। बर्ड फ्लू के एक भी केस नहीं मिलने के चलते यहां चिकन और अंडे की डिमांड और रेट पहले की तरह बनी हुई है। यहां बालोद के पोंडी गांव में बुधवार देर शाम चार कौवों के शव मिले थे। इनमें एक को शव ग्रामीणों ने जला दिया था। ये कौवे उड़ते हुए तालाब में जा गिरे थे। पशु चिकित्सा विभाग की टीम ने कौवों के सैंपल जांच के लिए भोपाल भेजे हैं।

वहीं दुर्ग, रायगढ़, जगदलपुर, बैकुंठपुर-कोरिया, बिलासपुर के कोनी और सरगुजा के कुनकुरी स्थित शासकीय पोल्ट्री फार्म से बर्डफ्लू की जांच के लिए सैंपल लिए गए। अभी तक की जांच में सभी सैंपल की रिपोर्ट निगेटिव आई है। छत्तीसगढ़ में बर्डफ्लू का अब तक कहीं से कोई भी मामला सामने नहीं आया है।

झारखंड : जमशेदपुर में दूसरे राज्यों से मुर्गे-मुर्गियां मंगाने पर रोक
रांची में मुर्गा 130-140 रुपए किलो मिल रहा है। अंडा 5.80 रुपए प्रति नग मिल रहा है। जमशेदपुर में आधा दर्जन कौवों की मौत के बाद जिले में बाहर से मुर्गे-मुर्गियां मंगाने पर रोक लगा दी है। पशुपालन विभाग ने रांची के अलावा प. बंगाल, छत्तीसगढ़ और ओडिशा से मुर्गियां मंगाने पर रोक लगाई है ताकि बर्ड फ्लू के खतरे को रोका जा सके।

उधर, हजारीबाग में गुरुवार को एक मृत चील मिला है। मृत चील लोहसिंघना थाना अंतर्गत मंडई रोड में मिला। पशु चिकित्सक डॉ. संजय कुमार ने बताया कि डॉक्टरों का टीम गठित कर चील की मौत के कारणों की जांच होगी।

यूपी : आशंका होते ही मुर्गे के दाम 20 रुपए किलो गिरे
उत्तरप्रदेश के वाराणसी में अभी तक वायरस की पुष्टि नहीं हुई है लेकिन आशंका में ही तीन दिन में मुर्गे के भाव 120 रुपए से गिरकर 100 पर आ गए। पोल्ट्री फार्म समिति के अध्यक्ष अजय खरे ने बताया तीन दिनों के अंदर थोक मुर्गे का रेट बर्ड फ्लू की खबर से 120 रुपए किलो से 100 रुपए किलो तक पहुंच गया। 15 हजार के करीब लोग इस व्यापार से जुड़े हैं। एक करोड़ से ऊपर का कारोबार प्रभावित हुआ है।

बर्ड फ्लू केरल, राजस्थान, मध्य प्रदेश, हरियाणा के बाद अब यूपी में पहुंचने की आशंका है। सरकार ने जिले के स्वास्थ्य विभाग को सतर्क किया है। सभी पोल्ट्री फार्म, दुकान से जुड़े व्यापारियों को सूचित किया गया है कि मुर्गियों के मौत पर पशुपालन विभाग को तुरंत सूचना दें।

हिमाचल : विदेशी पक्षियों में वायरस मिला, मुर्गियों की रिपोर्ट का इंतजार
हिमाचल प्रदेश के विदेशी पक्षियों की 17 प्रजातियां संक्रमित पाई गई हैं। इसमें से अधिकांश बार हैडेड गूज हैं। ये पक्षी हिमाचल में सेंट्रल एशिया, पूर्व सोवियत संघ, चीन, मंगोलिया, साइबेरिया जैसे देशों में आते हैं। कांगड़ा जिले में स्थित पौंग बांध की झील पर 3 हजार से ज्यादा पक्षी मरे हैं। प्रवासी पक्षियों में बर्ड फ्लू की पुष्टि के बाद सरकार अलर्ट पर है।

मर चुके परिंदों को तलाशने और उन्हें दफनाने के लिए पशुपालन विभाग ने 18 रेपिड टीमों का गठन करके निगरानी शुरू कर दी है पशुपालन विभाग के डिप्टी डायरेक्टर डॉ. संजीव कुमार धीमान ने कहा है कि आसपास के इलाकों से कुल 119 मुर्गियों के सैंपल जालंधर लैब में भेजे गए हैं, जिनकी रिपोर्ट आने का इंतजार है। वैज्ञानिक आधार पर निपटाने के साथ ही कमर्शियल और डोमेस्टिक पोल्ट्री मालिकों को मुआवजा भी दिया जाएगा।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


छत्तीसगढ़ मे वायरस की जांच के लिए सैंपल भेजे गए हैं। फिलहाल, रिपोर्ट का इंतजार है। बर्ड फ्लू के एक भी केस नहीं मिलने के चलते यहां चिकन और अंडे की डिमांड और रेट पहले की तरह बनी हुई है।

More from उत्तर प्रदेशMore posts in उत्तर प्रदेश »

Be First to Comment

    Thanks to being part of My Daily Bihar News .

    %d bloggers like this: