Press "Enter" to skip to content

जुलाई के अंत तक बढ़ सकते हैं मरीज, शहर में 2500 बेडों की होगी जरूरत




शहर में जुलाई के अंत तक मरीजों की संख्या में बड़ा इजाफा हो सकता है। जिला प्रशासन की रिपोर्ट के मुताबिक यदि जिले में हर रोज 50 केस आते हैं, तो 29 जून से 31 जुलाई यानी 33 दिनों में 1650 तक मरीजों की संख्या पहुंच सकती है। इन आंकड़ों के आधार पर प्रशासन 2500 बेड की व्यवस्था कर रहा है।

हालांकि डीसी घनश्याम थोरी, किसी भी आपात काल से निपटने के लिए 5000 कोविड बेडों की व्यवस्था को अंतिम रूप देने में जुटे हैं। इसके लिए जिले के सभी एसडीएम को निर्देश दिए गए हैं। राज्य सरकार को कोरोनावायरस के पीक टाइम का सही अनुमान तो अभी तक नहीं चल पाया है, लेकिन आशंका है कि 15 जुलाई के आसपास संक्रमित लोगों की संख्या बढ़ सकती है। डीसी घनश्याम थोरी ने बताया कि जिला प्रशासन की ओर से किसी भी स्थिति से निपटने के लिए 5 हजार क्वारेंटाइन बेड की वैकल्पिक व्यवस्था की जा रही है।

प्रशासन ने पिम्स में कोविड केयर सेंटर के लिए 350 बेडों और एनआईटी में 1000 बेडों वाला सेंटर स्थापित करने के निर्देश दिए हैं। यहां पहले ही 500-500 बेड के सेंटर चल रहे हैं। जालंधर-1, 2 में 200-200 बेडों वाले क्वारेंटाइन सेंटर बनाए जाएंगे। नकोदर, शाहकोट और फिल्लौर में 100-100 बेडों वाले क्वारेंटाइन सेंटर की सुविधा होगी।

30 होटलों में 468 बेड सुरक्षित

अलग-अलग इलाकों में लोगों की सुविधाओं को देखते हुए बाहर से आने वाले लोगों को आइसोलेट करने के लिए 30 होटलों में 468 बेडों की व्यवस्था की जा चुकी है। यहां पर कोई भी आकर खुद ही क्वारेंटाइन हो सकता है। इसके लिए होटलों के द्वारा अलग-अलग रेट निर्धारित किए गए हैं।

कॉलेजों में 200 बेड तैयार

जिला प्रशासन ने शहर के प्राइवेट कॉलेजों में क्वारेंटाइन सेंटर बनाए हैं। डीएवी और डेविएट में 200 बेडो‌ं की व्यवस्था है। यहां पर रेंट चुकता करके लोग क्वारेंटाइन हाे सकते हैं। खास बात यह है हाेटल और स्कूल में बाहर से आने वाले ही नहीं कोई भी रूम ले सकता है।

इसलिए बनाए जा रहे मिनी कंटेनमेंट जोन

कोविड-19 से ज्यादा प्रभावित होने वाली संवेदनशील उम्र में ज्यादा बीमार व्यक्ति, 60 साल की उम्र वर्ग के लोग, गर्भवती महिलाएं और वे लोग हैं, जिनका इम्यून सिस्टम कमजोर है। एेसे लोग कोरोना की जद में न आएं, इसलिए माइक्रो कंटेनमेंट और कंटेनमेंट जोन बनाए जा रहे हैं ताकि आवाजाही पर पाबंदी लगाकर इन्हें बचाया जा सके।

  <br><br>
        <a href="https://f87kg.app.goo.gl/V27t">Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today</a>
    <section class="type:slideshow">
                    <figure>
            <a href="https://www.bhaskar.com/local/punjab/jalandhar/news/patients-may-increase-by-the-end-of-july-2500-beds-will-be-needed-in-the-city-127457707.html">
                <img border="0" hspace="10" align="left" src="https://i10.dainikbhaskar.com/thumbnails/891x770/web2images/www.bhaskar.com/2020/06/29/orig_69_1593377764.jpg">
            <figcaption>Patients may increase by the end of July, 2500 beds will be needed in the city</figcaption>
            </a> 
        </figure>
                </section>

Be First to Comment

    Thanks to being a part of My Daiky bihar news .

    %d bloggers like this: