Press "Enter" to skip to content

जिले के किसान 31 मार्च तक लैंपस में बेच सकते हैं धान [Source: Dainik Bhaskar]



धान अधिप्राप्ति के तहत विभागीय निर्देशानुसार धान की अधिप्राप्ति रविवार से जिले भर में आरंभ हो गया। न्यूनतम समर्थन मूल्य और राज्य बोनस की राशि को मिलाते हुए साधारण धान की दर 2050 एवं ग्रेड ए 2070 रुपया कि दर से धान अधिप्राप्ति की जा रही ही। इस साल समय पर धान अधिप्राप्ति केन्द्र में धान की खरीदारी शुरू होने से किसानों में खुशी है। खरीफ विपणन मौसम 2020-21 धान अधिप्राप्ति का कार्य 31 मार्च 2021 तक किया जाएगा।

जिले में इसकी तैयारी आरंभ कर दिया गया है। जामताड़ा जिले में 52000 हेक्टेयर में धान की खेती का लक्ष्य रखा गया था जिसे शत-प्रतिशत पूरा किया गया। अच्छी बारिश के कारण जिले में धान की खेती बेहतर हुई है जिस कारण विभाग को उम्मीद है कि इस वर्ष पिछले वर्ष के मुकाबले डेढ़ गुना अधिक धान की खरीदारी हो सकेगी। इस वर्ष किसानों का रजिस्ट्रेशन भी किया जा रहा है। जिले में लगभग 26000 किसानों का रजिस्ट्रेशन किया गया है। बताया जाता है कि जिले में करीब 50 प्रतिशत धान कटनी का कार्य पूरा कर लिया गया है। पिछले वित्तीय वर्ष में राज्य सरकार द्वारा जामताड़ा जिले में धान अधिप्राप्ति का लक्ष्य 86000.00 क्विंटल किया गया था। इस वर्ष बीते वित्त वर्ष से डेढ़ गुना अधिक धान अधिप्राप्ति का लक्ष्य है। कुंडहित प्रतिनिधि के अनुसार प्रखंड कुंडहित स्थित बाबूपुर लैंप्स में आज धान अधिप्राप्ति का शुभारंभ हुआ। दूरदराज से किसान बैलगाड़ी व वाहन के माध्यम से धान लेकर लैंपस पहुंचे। जहां मौजूद लैंप्स अधिकारी ने किसान से धान की खरीदारी किया। नाला प्रतिनिधि के अनुसार धान अधिप्राप्ति आरंभ होने से क्षेत्र के किसानों में खुशी व्याप्त है। क्षेत्र में खरीफ विपणन वर्ष 2020-21 के लिए धान खरीद आरंभ होने से किसानों में खुशी का माहौल है।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


Farmers of the district can sell paddy in Lampas till 31 March

More from झारखंड खबरMore posts in झारखंड खबर »

Be First to Comment

    Thanks to being part of My Daily Bihar News .

    %d bloggers like this: