Press "Enter" to skip to content

कानूनी लड़ाई लड़ने के लिए दिल्ली में कर रहे हैं विमर्श, पोस्ट बैलेट की गिनती का मामला जा सकता है कोर्ट [Source: Dainik Bhaskar]



महागठबंधन और राजद के नेता तेजस्वी यादव शनिवार से दिल्ली में हैं। शनिवार को शाम में वे पटना से दिल्ली गए थे। जानकारी है कि दिल्ली में वे चुनाव आयोग के रिटायर्ड अफसरों और कानूनविदों से राय ले रहे हैं। इसका मतलब साफ है कि तेजस्वी यादव ने हार नहीं मानी है। चुनाव परिणाम के बाद उन्होंने अपने पहले प्रेस कांफ्रेस में कहा भी था कि, हम हारे नहीं हराए गए, नतीजा हमारे पक्ष में रहा और फैसला उनके पक्ष में आया। राजद नेताओं ने ने शपथ ग्रहण समारोह का बहिष्कार करने का निर्णय लिया है, पार्टी का कोई भी नेता आयोजन में शामिल नहीं होगा। कांग्रेस विधान पार्षद और प्रवक्ता प्रेमचंद्र मिश्रा ने कहा कि जनमत की हेराफेरी कर नीतीश कुमार सरकार बना रहे हैं, इस वजह से कांग्रेस पार्टी से भी कोई शपथ ग्रहण समारोह में नहीं जाएगा। भाकपा- माले की ओर से भी आयोजन में कोई शामिल नहीं होगा।

वोट की गिनती में गड़बड़ी कराने का आरोप

राजद का कहना है कि 15 सीटों पर मतों की गिनती में बड़ी गड़बड़ी की गई है। पोस्टल बैलेट की गिनती में 900-900 तक वोट रद्द किए गए। तेजस्वी यादव ने आरोप लगाया था कि सीएम हाउस के इशारे पर वोटों की गिनती में गड़बड़ी की गई। गिनती का नियम निर्धारित है कि पोस्ट बैलेट की गिनती पहले की जानी है तो किसके दबाव में उसकी गिनती सबसे बाद में की गई। उन्होंने यह भी कहा था कि चूंकि नियोजित शिक्षकों ने बड़ी संख्या में वोट किया था और इसलिए पोस्टल बैलेट के वोट बड़ी संख्या में रद्द कर दिए गए। तेजस्वी ने यहां तक कहा कि पोस्ट बैलेट की गिनती सही से हो जाए तो उनकी सरकार बन जाएगी।

रिटार्यड अफसरों से ली जा रही राय

राजद का दावा है कि उसे 130 सीटें मिलीं लेकिन उन्हें वोटों में गिनती करके सीटें घटाई गईं और हरवाया गया। महज दशमलव एक परसेंट वोट से एनडीए को जीत दिलायी गई। महागठबंधन कैसे कानूनी लड़ाई लड़ सकता है और उस पर चुनाव आयोग के रिटायर्ड अफसरों की क्या राय है, इन सब पर तेजस्वी दिल्ली में बात कर रहे हैं, राय ले रहे हैं। तय माना जा रहा है कि मामला न्यायालय में जाएगा। कोर्ट का दरवाजा खटखटाने पर उसके क्या-क्या परिणाम हो सकते हैं उस पर विमर्श जारी है।

महागठबंधन का दावा
एनडीए को एक करोड़ 57 लाख 728 वोट मिले। यह 37.3 परसेंट है। महागठबंधन को एक करोड़ 56 लाख 88 हजार 458 वोट मिले। यह 37.2 परसेंट है। अंतर महज दशमलव एक का है। एनडीए और महागठबंधन के बीच 12 हजार 270 वोटों का अंतर है। 12 हजार वोट में वे 15 सीट पर आगे हो गए और जीत हासिल की।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


शपथ ग्रहण समारोह का बहिष्कार करेगी राजद।

More from बिहार समाचारMore posts in बिहार समाचार »

Be First to Comment

    Thanks to being part of My Daily Bihar News .

    %d bloggers like this: