Press "Enter" to skip to content

ई-एमआईएएस पोर्टल पर ऑनलाइन आवेदन करो, विदेश यात्रा का मौका




देश के सभी मान्यता प्राप्त सरकारी और निजी स्कूलों में कक्षा 6 से 10 में पढ़ने वाले विद्यार्थियों के लिए इंस्पायर अवार्ड-मानक योजना के तहत ऑनलाइन आवेदन ई-एमआईएएस पोर्टल पर हाे रहे हैं।
विद्यार्थियों में विज्ञान और प्रौद्योगिकी के प्रति दिलचस्पी बढ़ाने और उन्हें केंद्र सरकार की इस योजना से जोड़नेे के लिए चयनित सभी छात्रों के बैंक खातों में 10-10 हजार रुपए डीबीटी के जरिए जमा कराए जाएंगे। चयनित छात्रों की सूची जिला शिक्षा अधिकारी माध्यमिक के ई-एमआईएएस पोर्टल लॉग इन पर उपलब्ध कराई जाएगी। रामगंजमंडी के विभागीय सूत्रों ने बताया कि इसके आवेदन लिए जा रहे हैं।

इस योजना में जिला स्तर पर 10 हजार व राज्य स्तर पर 1 हजार विचारों का चयन किया जाएगा। जबकि देशभर में एक लाख विद्यार्थी चयनित होंगे। उन्हें राष्ट्रीय स्तर पर चयनित मॉडल को राष्ट्रपति भवन में आयोजित प्रवर्तन उत्सव में प्रदर्शित किया जाएगा, जिसे राष्ट्रपति के हाथों से पुरस्कृत किया जाएगा। जो युवा वैज्ञानिक राष्ट्रीय स्तर पर चयनित होंगे, उन्हें नकद पुरस्कार और चुनिंदा बच्चों को विदेश यात्रा भी करवाई जाएगी।
इंस्पायर अवार्ड में मिलने वाली छात्रवृत्ति के लिए राष्ट्रीयकृत बैंक में खाता जरूरी
इंस्पायर अवार्ड में मिलने वाली छात्रवृत्ति के लिए विद्यार्थी का खाता राष्ट्रीयकृत किसी भी बैंक में हो एवं आवेदन करने से लेकर चयन होने के उपरांत कम से कम 3 माह तक सक्रिय होना चाहिए। उल्लेखनीय है कि इस साल इंस्पायर अवार्ड पोर्टल पर एक महत्वपूर्ण परिवर्तन किया गया है। इसके तहत स्कूल अथाॅरिटी ऑप्शन में स्कूल लाॅगिन करने के उपरांत स्कूल का यू-डाइस कोड अपडेट करना अनिवार्य है बिना यू-डाइस अपडेट किए पोर्टल पर नॉमिनेशन संबंधित काम संभव नहीं होगा।

विद्यालय में एक शिक्षक इंस्पायर प्रभारी नियुक्त
माध्यमिक शिक्षा निदेशक सौरभ स्वामी ने गत सप्ताह जारी निर्देशों में सभी जिला व ब्लॉक शिक्षा अधिकारियों को निर्देशित किया है कि इंस्पायर अवार्ड योजना के प्रभावी क्रियान्वयन के लिए प्रत्येक विद्यालय में एक अध्यापक को इंस्पायर प्रभारी नियुक्त किया जाए। इसके साथ ही अब प्रत्येक विद्यालय में से दो या तीन श्रेष्ठ विद्यार्थियों का इस योजना में नामांकन अनिवार्य कर दिया गया है।
प्रोत्साहन राशि बढ़ाई थी, ताकि विद्यार्थी का योजना में रुझान रहे
पिछले साल केंद्र सरकार ने प्रोत्साहन राशि 5 हजार से बढ़ाकर 10 हजार रुपए कर दी थी। प्रोत्साहन राशि बढ़ाने का मकसद छात्र-छात्राओं में इस योजना के प्रति दिलचस्पी बढ़ाना है। प्रतिभाओं का जिला स्तरीय के बाद राज्य स्तर पर चयन किया जाएगा। जिन छात्रों के विज्ञान मॉडल राज्य स्तर पर श्रेष्ठ रहेंगे, उन्हें राष्ट्र स्तरीय मंच पर प्रतिभा दिखाने का मौका मिलेगा। राष्ट्रीय स्तर के लिए चयनित होने पर छात्र-छात्राओं को अलग से प्रोत्साहन राशि भी प्रदान की जाएगी।

प्रतिभावान विद्यार्थियों को मिलता है राष्ट्रस्तरीय मंच
इंस्पायर अवार्ड मानक विद्यार्थियों के नवाचारी प्रोत्साहन के लिए एक अभिनव योजना है। इसमें पुरस्कार के साथ-साथ राष्ट्रीय स्तर के लिए चयनित प्रतिभागियों के मॉडल को आईआईटी व एनटीए जैसे प्रतिष्ठित संस्थानों के तकनीकी सहयोग और मार्गदर्शन में राष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिता में प्रदर्शित किया जाता है। यह कार्यक्रम स्कूलों के सृजनात्मक सोच वाले प्रतिभावान विद्यार्थियों को राष्ट्र स्तरीय मंच प्रदान करता है।

   <br><br>
        <a href="https://f87kg.app.goo.gl/V27t">Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today</a>
    <section class="type:slideshow">
                </section>

Be First to Comment

Thanks to being a part of My Daiky bihar news .

%d bloggers like this: