Press "Enter" to skip to content

अब मुख्तार अंसारी का नया ठिकाना बांदा जेल की बैरक नंबर-15, इस बैरक में कैद दूसरे डान के नाम जानकर कांप जाएगी रुह [Source: Patrika : India’s Leading Hindi News Portal]

लखनऊ. बसपा विधायक (mafia don bsp mla Mukhtar Ansari) मुख्तार अंसारी (Mukhtar Ansari) की पंजाब से यूपी वापसी की तैयारियां पूरी हो चुकी है। मुख्तार का 26 माह का यूपी वनवास बुधवार को खत्म हो जाएगा। मुख्तार अंसारी की कोरोनावायरस टेस्ट रिपोर्ट निगेटिव आई है। बांदा पुलिस के पंजाब के रूपनगर पुलिस लाइन में अपनी हाजिरी दर्ज करवाने के बाद रोपड़ जेल (Ropar jail) से मुख्तार अंसारी को हैंडओवर कर दिया गया है। करीब 16 घंटे के 882 किलोमीटर के सफर के बाद टीम बांदा पहुंचेगी। बांदा पुलिस किस रुट से मुख्तार अंसारी को लेकर आएगी उसका सुरक्षा कारणों की वजह से खुलासा नहीं किया गया। बांदा पहुंचने के बाद मुख्तार अंसारी का नया ठिकाना बांदा जेल की बैरक नंबर-15 (Mukhtar Ansari New location Banda Jail Barrack number 15) होगी। बैरक नंबर-15 में यूपी ही नहीं देश के कई नामचीन कुख्यात और विख्यात रहे हैं। सुप्रीम कोर्ट ने 26 मार्च को मुख्तार अंसारी को यूपी भेजने का आदेश दिया था।

मौसम विभाग का यूपी के कई जिलों में गरज-चमक के साथ बारिश का अलर्ट

यूपी के बुंदेलखंड में बांदा है। बांदा जेल का नाम सुन कैदी की रूह कांप जाती है। सुरक्षा की नजर से यह बेहद सुरक्षित जेल है। बांदा जेल की कुल क्षमता 600 कैदियों की है पर इस वक्त जेल में 1200 कैदी बंद हैं। पांच बार विधायक व बाहुबली मुख्तार अंसारी को बांदा जेल की जिस बैरक नंबर-15 में रखा जाएगा, उसमें कुंडा के राजा भैया, इलाहाबाद के बाहुबली अतीक अहमद, शीलू हत्याकांड के आरोपी विधायक पुरुषोत्तम द्विवेदी और नोएडा का कुख्यात गैंगस्टर अनिल दुजाना भी रह चुके हैं।

सबसे सुरक्षित बैरक नंबर 15 :- इसके अलावा बांदा जेल में बड़े-बड़े माफिया, डॉन, चंबल के मशहूर डकैत सजा काट चुके हैं। बांदा जेल में डकैत ददुआ, सात लाख के इनामी बलखड़िया, गौरी यादव, संग्राम सिंह जैसे डकैतों की गैंग के कई सदस्य बंद हैं। मुख्तार अंसारी के लिए बांदा जेल नई नहीं है। वर्ष 2017 में भी मुख्तार अंसारी बांदा जेल बंद थे। उस वक्त भी मुख्तार को 15 नंबर बैरक में रखा गया था। जानकारों का कहना है कि बांदा जेल की सबसे सुरक्षित बैरक नंबर 15 है।

कड़ी सुरक्षा व्यवस्था :- बांदा जेल में मुख्तार की एंट्री से पहले सुरक्षा व्यवस्था की पूरी जांच की गई। कहीं कोई खामी न रहे इसका निरीक्षण करने के लिए आईजी, डीएम आनंद कुमार सिंह और एसपी डॉ. एसएस मीणा ने पुलिस फोर्स के साथ जेल परिसर सुरक्षा व्यवस्थाओं का जायजा लिया। जेल के अंदर और बाहर सुरक्षा बढ़ाने के निर्देश जारी किए हैं। जेल बाउंड्रीवॉल पर हर 10 से 15 फिट की दूरी पर सुरक्षा कर्मियों की तैनाती की गयी है।

More from उत्तर प्रदेशMore posts in उत्तर प्रदेश »

Be First to Comment

    Thanks to being part of My Daily Bihar News .

    %d bloggers like this: